Friday, 9 December 2016

Be Successful सफल और असफल उदाहरण के रूप में ये पढ़िये

Be Successful सफल और असफल उदाहरण के रूप में ये पढ़िये : ये हम नहीं कहते हमारे पाठक कहते है कि मेरिट माॅक सबसे अलग क्यों है? इसे आप प्रतिष्ठित कोचिंग कक्षा के विद्यार्थियों का सर्वे in Hindi में समझ लें।
दोस्तो हाल ही में IBPS PO-VI MAINS Result का परीक्षा परिणाम जारी हुआ है। हमारे भी कई पाठक इसमें सफलता (Success) प्राप्त की है, हम उन्हे हार्दिक बधाई देते है इसके साथ की दुनिया का प्रत्येक व्यक्ति सफलता के एहसास (Feeling of success) को अपने अंदर महसूस करना चाहता है। और जो सफल नहीं हुए है (failure) वे निराश नहीं है क्योंकि उन्हें केवल अपनी मंजिल (destination) तक जाना है और केवल इसी चिंतन में रात-दिन लगातार मेहनत करते हुए लगे हुए  है तथा अब भी अपनी स्टडी को लगातार जारी रखे हुए है।

अफसोस तो केवल वे पाठक करते है जिन्होंने जो अपना अमूल्य समय (Valuable time) बर्बाद करते है। महंगी कोचिंग क्लास जाॅईन करते है, अध्ययन सामग्री व नोट्स खरीदते है और फिर भी चयन नहीं ले पाते है। जो इमानदार व मेहनती प्रतिभावान अभ्यर्थी है वे कभी नकारात्मक विचार (Negative thoughts) अपने मन में नहीं लाते है। वे सोचते है प्रयास पूरे मन से नहीं हुआ अब फिर से एक मिशन लेकर नयी शुरूआत करते है।

दोस्तो आप हमें इस प्रश्न का उत्तर दें कि परीक्षा के पेपर में जो प्रश्न पूछे जाते है वो हमारे लिये नये प्रश्न (जो पहले नहीं पढ़े) क्यो होते है? कमेंट में अपनी राय जरूर बतायें मित्रों।

मित्रों ऐसा क्यों होता है कि हम पढ़ते कुछ ओर है और परीक्षा में कुछ ओर ही प्रश्न आ जाते है। कभी आपने इस बारे में सोचा नहीं न, तो चलिए आज हम आपको इसका राज भी बता ही देते है।


  1. आपने केवल 1 किताब या नोट्स पर फोकस किया जो बिल्कुल गलत है!
  2. आपने केवल क्विज पढ़ी, क्विज के उन प्रश्नों पर कभी गौर नहीं किया कि ये तैयार कैसे किये गये या इन प्रश्नों का मूल बेस क्या रहा?
  3. न्यूनतम जो समय आपको अपनी पढ़ाई को देना था वह समय आप नहीं दे पाये आपने समय बर्बाद किया!
  4. आपने अपने टाॅपिक पर केवल प्रमुख तथ्यों की पढ़ाई की कुछ अतिरिक्त जानकारी लेने का प्रयास नहीं किया।
  5. सफलता की इच्छा (Success desire) को पूरा समझ नहीं सके।
  6. आपने यह नहीं जाना कि सफल और असफल व्यक्तियों (Successful and unsuccessful persons) में ऐसा क्या अंतर होता है जिसकी वजह से कुछ व्यक्ति सफल कहे जाते हैं तो कुछ को असफल कहा जाता है?

और भी बहुत से कारण है लेकिन अभी हम केवल ये 6 कारण ही बता रहे है जल्द ही अपडेट के समय हम उन सभी शेष कारणों को भी आपको बता देंगे।

दोस्तो अभी हाल ही में हमने एक प्रतिष्ठित कोचिंग कक्षा के विद्यार्थियों का सर्वे लिया और जानने की पूरी कोशिश की गई की प्रतियोगी छात्र व छात्राएं आखिर क्या पढ़ रहे है और किस प्रकार अपनी प्रतियोगी परीक्षा की तैयारी कर रहे है।

उदाहरण के रूप में ये पढ़िये - हमारी टीम ने भारत के नियंत्रक-महालेखा परीक्षक टाॅपिक के बारे में उन छात्र-छात्राओं से बात की तो बताया गया कि ये टाॅपिक उन्होंने सामान्य ज्ञान (General Knowledge for Competitive exams) की कक्षा में पढ़ा दिय गया है और इसकी अच्छी तैयारी कर ली है और अभ्यर्थियों ने कहा कि सभी क्विज व प्रश्न भी हल कर लिये गये है

हमारी टीम ने भारत के नियंत्रक-महालेखा परीक्षक टाॅपिक के बारे में अभ्यर्थियों के समक्ष यह प्रश्न रखा-

Q.1. संविधान के किस अनुच्छेद के तहत भारत के नियंत्रक-महालेखा परीक्षक (Comptroller and Auditor General of India-CAG) की नियुक्ति राष्ट्रपति द्वारा की जाती है?

दोस्तों हमें आश्चर्य हुआ यह जानकर की, जब मेरिट माॅक के प्रश्न प्रत्र निर्माता ने यह प्रश्न पूछा तो सब आपस में ताकने लगे! 80 students के बैच में से केवल 2 विद्यार्थी ऐसे थे जिनको इस प्रश्न के सही उत्तर के बारे में पता था।
यहां तक की इस प्रश्न के सही उत्तर के बारे में सामान्य ज्ञान पढ़ाने वाले गुरूजी तक को मालूम नहीं था!

यही हाल आपका प्रतियोगी परीक्षा में होता है। जब पूरे 6 माह या 1 साल तक आप अच्छी जमकर परीक्षा की तैयारी करते है, कोचिंग करते है और जब परीक्षा में प्रश्न-पत्र देखते है तो कुछ नहीं आता है। मित्रों हम सभी के लिए ऐसा नहीं कह रहे है जबकि आप लोगों में से अधिकांश के साथ तो ऐसा होता होगा ये तो पक्का है।

प्रतियोगी परीक्षा में सफल नहीं होते है फिर हताश होते है, परिवार छोड़ने की सोचते है, सब उनके बुरे बन जाते है। गलत विचार (thinking) उनके मन में इस कदर बस जाते है कि वो --- आत्महत्या करने तक कदम उठा लेते है।

दोस्तो यह जीवन बड़ा ही किमती है। हमें कुछ अच्छा करके जाना है और इसके लिए अच्छे दोस्त बनाने है, अच्छी पढ़ाई करनी है, अच्छा कार्य करना है। अच्छी जाॅब करनी है।

यहां हम केवल प्रतियोगी परीक्षा में सफल या असफल हो जाने को अपने जीवन का अंतिम लक्ष्य नहीं मान सकते है।

सबसे पहले तो जो असफल अभ्यर्थी है वे अपने मन से असफल होने का डर और संभावना को बिल्कुल त्याग दें।
हमारे प्रधानमंत्री महोदय भी (श्री नरेन्द्र मोदी जी) ज्यादा पढ़े लिखे नहीं है। शायद समझ गये होंगे आप।

न हाथ एक शस्त्र हो,
न हाथ एक अस्त्र हो,
न अन्न वीर वस्त्र हो,
हटो नहीं, डरो नहीं,
बढ़े चलो, बढ़े चलो
रहे समक्ष हिम-शिखर,
तुम्हारा प्रण उठे निखर,
भले ही जाए जन बिखर,
रुको नहीं, झुको नहीं,
बढ़े चलो, बढ़े चलो
घटा घिरी अटूट हो,
अधर में कालकूट हो,
वही सुधा का घूंट हो,
जिये चलो, मरे चलो,बढ़े चलो, बढ़े चलो
गगन उगलता आग हो,
छिड़ा मरण का राग हो,
लहू का अपने फाग हो,
अड़ो वहीं, गड़ो वहीं,बढ़े चलो, बढ़े चलो
चलो नई मिसाल हो,
जलो नई मिसाल हो,
बढो़ नया कमाल हो,
झुको नही, रूको नही,बढ़े चलो, बढ़े चलो
अशेष रक्त तोल दो,
स्वतंत्रता का मोल दो,
कड़ी युगों की खोल दो,
डरो नही, मरो नहीं,बढ़े चलो, बढ़े चलो




मित्रों आपने अभी तक केवल अपने जीवन का एक पार्ट (Part) देखा है और अभी आपको अपने जीवन में बहुत कुछ करना बनता है और निश्चित तौर पर करेंगे। आप ऐसा करेंगे और कर सकते है जो शायद आज तक किसी ने नहीं किया हो। जी हां दोस्तो। सह सही है। इस बात का प्रमाण आप उन सभी सफल व्यक्तित्व के बारे में जानकारी हासिल करके प्राप्त कर सकते है। असफलता हमें और अधिक तेज गति से आगे बढ़ने की प्रेरणा देने के लिए आती है।

सफलता और असफलता को भगवान के दिये फल के रूप में मान कर हर्दय से सकारात्मक विचारों के प्रवाह के साथ स्वीकार किया जाना चाहिए। हमारी सोच हमेशा सकारात्मक रखनी है। अतः जैसी हमारी सोच होगी वैसी ही हमारी आदतें होंगी। जैसी हमारी आदतें होंगी, वैसी ही हमारी दिनचर्या होगी और जैसी हमारी दिनचर्या होगी, वैसे ही परिणाम हमें अपने जीवन (Life) में मिलेंगे।

अच्छे परिणाम (Good results) हमें सफल बनाते हैं और खराब परिणाम (Bad results) हमें असफल बनाते हैं।
अतः व्यक्ति के सोचने का तरीका अर्थात हमारी सोच ही हमें सफल या असफल बनाती है। दोस्तो आपको एक बार अपनी वर्तमान दिनचर्या (daily routine), आदतों (Habits) और सोचने के तरीके (Thinking style) के बारे में बहुत ध्यान से परिवर्तन करके देखना होगा।

आप Meritmock को बुकमार्क कर लें क्योंकि एक दिन हम आपको सफल इंसान बनाकर ही दम लेंगे। ये हमारा वादा है आप से।

यदि आपके पास Hindi में कोई Article, Inspirational story, Success Tips, Hindi Quotes, Money Tips या कोई और जानकारी है और यदि आप वह हमारे साथ Share करना चाहते हैं तो कृपया उसे अपनी फोटो के साथ हमें E-mail करें। हमारी E.Mail Id है– meritmock@gmail.com यदि आपकी Post हमें पसंद आती है तो हम उसे आपके नाम और फोटो के साथ Meritmock पर Publish करेंगे। Thanks!

No comments:

Post a Comment